top of page

किराना दुकान में कमाई के क्या कारक होते हैं?

Updated: Jul 10, 2023


किराना दुकान में कमाई के क्या कारक होते हैं? | What are the Factors for Earning well in a Kirana Store | Kirana Friends

किराना व्यापार अन्य व्यापारों से कम मार्जिन वाला व्यापार है, इसके बावजूद भी वह काफी मुनाफ़े का व्यापार साबित हो सकता है। इसमें 2 चीज़ों का ध्यान रखना सबसे महत्त्वपूर्ण है:

  • पहला, कमाई और खर्च का हिसाब रखना

  • दूसरा, कम स्टॉक से ज़्यादा बिक्री करना

किराना दुकान के मालिकों के लिए यह कुछ काऱक है जो व्यापार में सेल और मुनाफ़े पर प्रभावित करते है:


1. उचित स्थान -

सबसे पहले, यह निर्धारित करना महत्वपूर्ण है कि आपकी दुकान एक उचित स्थान पर है, जहां लोगो ग्राहकों की संख्या ज़्यादा हो। दुकान की जगह का उसकी कमाई पर काफी प्रभाव पड़ता है। अगर दुकान आवासीय क्षेत्र या मार्किट में है तो दुकान की कमाई बढ़ जाती है।

2. ग्राहक की संख्या -

किराना दुकान में कमाई के आंकड़े आपके ग्राहकों की संख्या पर निर्भर करता है। आपको अपने कैचमेंट एरिया और अपने प्रतिस्पर्धियों को ध्यान में रखते हुए अपनी दुकान को चलाना चाहिए क्योंकि यह ज़रूरी नहीं की आपके इलाके के सारे लोग आपकी दुकान के ही ग्राहक बने। इसलिए आपको विशेष प्रकार के ग्राहकों को टारगेट करना चाहिए और उनके अनुसार अपनी दुकान में रखे सामान की क्वालिटी, उसके मूल्य और ग्राहक के साथ व्यव्यहार पर ध्यान देना चाहिए।

3. उत्पाद की रेंज -

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप अपने ग्राहकों की मांगों को, उनकी पसंद को समझें और बाजार में चल रहे ट्रेंड्स को भी ध्यान में रखें। उत्पादों की रेंज और उनकी उपलब्धता अपनी दुकान में बनाये रखें। समय समय पर नए उत्पादों को भी दुकान में रखें इससे ग्राहक दुकान में आकर्षित होते है। यदि आप ऐसा करते है तो ग्राहक आएंगे और दोबारा भी आप ही को चुनेंगे। इस तरह आप अपनी दुकान की कमाई को बढ़ा भी सकते हैं।

4. दुकान में लगी लागत -

इसके अलावा, आपकी दुकान के खर्च पर भी ध्यान देना महत्वपूर्ण है। आपकी आमदनी आपके कमाए मार्जिन और दुकान के खर्च जैसे दुकान का किराया, कर्मचारियों की सैलरी और इलेक्ट्रिसिटी आदि पर निर्भर करेगी। आपको अपनी लागतों को नियंत्रित करने और मार्जिन को बनाए रखने की जरूरत है।

5. तकनीकों का इस्तेमाल -

किराना दुकान में कमाई लगातार मेहनत करने पर निर्भर करती है मगर समय के साथ व्यापार में तकनीकों में बदलाव से भी मुनाफ़े में बढ़ोतरी होती है। तकनीक जैसे की ऑफर या डिस्काउंट देना, कस्टमर को स्पेशल प्राइस पर सामान देना, कॉम्बो, आदि की तकनीक भी काम आती है व्यापार में।

6. ऑनलाइन व्यवसाय -

अगर आप अपने किराना व्यवसाय को ऑनलाइन लेकर जाते है तो आप एक नए कमाई के अवसर से अवगत होंगे। समय के साथ और ग्राहक की सुविधा के लिए ऑनलाइन आने से या एक बेहतरीन कमाई का ज़रिया सिद्ध हो सकता है।

7. रिपोर्ट्स (MIS) -

दुकान में बिक्री, खरीदारी, स्टॉक, इन्वेंटरी प्रबंधन, आदि का डाटा ही व्यापार की असली कहानी दर्शाता है। व्यापार में बिलिंग सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल बहुत महत्वपूर्ण है जिसकी मदद से दुकान में कौनसा सामान रखना है और कौनसा नहीं, स्टॉक का रोटेशन, आदि, जैसी चीज़ें पता चलती है जिससे आपके व्यापार के मुनाफे पर प्रभाव पड़ता है।


किराना दुकान का अपना महत्व है और दुसरे व्यवसाय की तरह इसमें सफलता और असफलता दोनों हो सकती हैं। आपके व्यवसाय का आकार, स्थान, ग्राहक का आवागमन, उत्पादों की क्वालिटी, आपकी प्रबंधन क्षमता, खर्च का नियंत्रण और आपके कारोबार की मेहनत सब कुछ आपकी कमाई पर असर करेगा। किराना दुकान को सफलतापूर्वक चलाने के लिए आधुनिक तकनीक और प्रतिस्पर्धी वातावरण का ध्यान रखना चाहिए। आपकी किराना दुकान से अच्छी कमाई की जा सकती है अगर आप समय, मेहनत और संकल्प से अपने व्यवसाय को चलाते हैं।

विशेषज्ञ की सहायता लेकर अपने किराना व्यवसाय की वृद्धि सुनिश्चित करें। 8010442222 पर कॉल करके हमसे संपर्क करें।

आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके किराना फ्रेंड्स एप्लीकेशन को गूगल प्ले स्टोर से भी डाउनलोड कर सकते हैं और सीख सकते हैं कि कैसे अपने स्टोर को अधिक लाभप्रद तरीके से चलाया जा सकता है।




bottom of page